Home Blog What are Mutual Fund and SIP How it Works? | in Hindi

What are Mutual Fund and SIP How it Works? | in Hindi

8
Mutual Fund and SIP How it Works
what is mutual fund

Mutual fund in hindi (MF) एक fund है। जहाँ बहुत सारे लोगो से पैसा इकटठा किया जाता है। जो कंपनी fund को मैनेज करती है। उन्हें assets management कंपनी कहते है। हर Mutual fund स्कीम के लिए फंड मैनेजर a point किये जाते है। fund मैनेजर उस Mutual fund स्कीम के जो golds objects use है। उनके अनुसार लोगो का पैसा invest करते है और उस Investment से जो profit होता है।उसे जिन लोगो ने इस fund में invest किया था उनके बीच बाँट दिया जाता है। इस fund को मैनेज करने के बदले में एसेट्स कंपनी कुछ फीस चार्ज करती है जिसे एक्सपेंस रेश्यो कहते है। ICICI Prudential Assets Management Company, SBI Mutual Fund, Motilal Oswal Assets Management company ये सारी assets management company है।

Mutual Fund and SIP | How it Works?

Mutual Fund में आपका पैसा

SBI mutual fund के ही 70 से ज्यादा mutual fund schemes है sbi magnum balanced fund, bluechip fund, sbi regular saving fund, जब आप mutual fund में invest करते हो तो आप ऐसी ही किसी scheme में अपना पैसा invest करते हो mutual fund में आपका पैसा manually 2 एसेट्स के asis में invest किया जाता है। DATE AND EQUITY date mutual fund में आपका पैसा date insurgent में invest किया जाता है। जैसे कि government securities treasury bill debentures at Maitra इन्हे debt instruments भी कहते है। तो ये government companies instrument के जरिये investor से पैसा उधार लेते है और बदले में उन्हें invest यानि ब्याज देते है तो जो mutual funds debt instruments में invest करते है उन्हें debt mutual fund कहते है।

Mutual Fund and SIP How it Works
how to work mutual funds |Mutual Fund in Hindi

What is Debt Mutual Fund

Debt mutual fund के कही सारे types होते है। वही equity mutual fund में आपका पैसा stock market में invest किया जाता है equity mutual fund के भी कही सारे types होते है हर mutual fund scheme के लिए fund manager appoint किये जाते है। तो अगर बो equity mutual fund है तो उसे fund में कोनसा stock खरीदना है। कोनसा बेचना है उन्हें कब खरीदना है और कब बेचना है ये सारे design fund manager लेते है इसलिए equity fund का performance काफी हद तक fund manager के skills और expertise पर depend होता है। इसलिए mutual fund में invest करने से पहले fund manager के skills और expertise को जानना बहुत जरुरी है, mutual fund में invest करने के 2 तरीके होते है।: Mutual Fund in Hindi

  1. LUMP -SUM
  2. SIP

What is Lump Sum and SIP

lump-sum investment मतलब एक साथ अपना पैसा invest करना वही sip हर महीने या हर क्याटर में invest करना जैसे कि RD की तरह RD में एक fix amount हर हफ्ते या हर महीने डालते रहते है। उसी तरह आप SIP में हर महीने या क्याटर में invest कर सकते है तो अगर आपने हर महीने में एक तारिक को 1000 SIP शुरू की है तो हर महीने एक तारिक को आपके बैंक से पैसे कट जायेंगे और mutual fund में invest किये जायेंगे। आज कल तो 500 रुपये से भी SIP सुरु कर सकते हो जैसे कंपनी के source होते है उसी तरह mutual fund scheme के units होते है। और जैसे उसकी कीमत share price से पता चलती है उसी तरह एक unit की कीमत उसके NAV (NET ASSETS VALAUE ) से पता चलती है। : Mutual Fund in Hindi

Mutual Fund Scheme

किसी mutual fund scheme में invest करने से पहले आपको उसके offer documents जरूर पड़ने चाइये अगर आप सीधा stock market में invest करना कहते हो पर आपके पास company का analysis करने के लिए समये नहीं है। तो equity mutual fund एक वेस्ट option हो सकता है। और आप किसी mutual fund manager के expertise का फायदा ले सकते है तो ऐसा नहीं है की किसी भी mutual fund में invest कर या अलग अलग types के mutual fund scheme होते है। जिनके अलग अलग risks & rewards होते है तो यहाँ पर आपको fund manage का expertise उस scheme के objective risk & rewards expenses इन सारी चीजों का analysis करना होगा और फिर जो scheme आपके investment goal से match होती है उसी scheme में आपको invest करना चाहिए ।

(यदि आप को हमारी पोस्ट म्यूचुअल फंड हिंदी में Mutual Fund in Hindi अच्छी लगे तो इसे शेयर जरूर करे। )

8 COMMENTS

Comments are closed.